हरियाणा के सभी 22 जिले
Spread the love

ईन प्रशनों से रिलेटिड Video आप हमारे YouTube चैनल पर भी देख सकते हैं click here

बुनकर नगरी

स्थापना1 नवंबर 1989

          पानीपत

  पानीपत में सबसे अधिक आचार फैक्ट्री हैं।

 

  • उप-मंडल – पानीपत व समालखा।
  • तहसील – पानीपत, समालखा, बापौली, इसराना।
  • उप-तहसील – मडलौड़ा
  • खंड – पानीपत, इसराना, मडलौड़ा, समालखा, सनौली, बापौली।
  • क्षेत्रफल – 1268 वर्ग किलोमीटर
  • जनसंख्या – 125437
  • जनसंख्या घनत्व – 951 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर

 नामकरण

  • महाभारत युद्ध के समय जिन गांवों को पांडवों ने दुर्योधन से मांगा था, उनमें पनपर्स्थ भी शामिल था। बाद में इसको पानीपत के नाम से जाना जाने लगा।

इतिहास

  1. अलग से जिला बनने से पहले पानीपत करनाल जिले का एक भाग था। स्वतंत्र जिले के रूप में पानीपत का गठन 1 नवंबर 1989 को हुआ।
  2. ईसे 1 नवंबर 1989 को नया जिला बनाया गया लेकिन  24 जुलाई सन 1991 को इसे पुनः करनाल में मिला दिया गया। 1 जनवरी सन 1992 को फिर से इसे नया जिला बना दिया गया।
  3. पानीपत की सीमा 3नों और से हरियाणा के अन्य जिलों से घिरी है और पूर्व दिशा में यमुना पार उत्तर प्रदेश के साथ सटी हुई है।
  4. फौज के लिए बनाए जाने वाले कंबल भी पानीपत में ही बनाए जाते हैं।
  5. प्रसिद्ध सूफी कवि प्रसिद्ध सूफी कवि मोहम्मद अफजल और उर्दू के प्रसिद्ध शायर अल्ताफ हुसैन हाली का जन्म यहीं पर हुआ था।
  6. संत बू-अली शाह भी पानीपत में ही पैदा हुए थे।

पानीपत की जिन 3 लड़ाइयों का अपना ही ऐतिहासिक महत्व है। जो ईस प्रकार से हैंः –

  1. सन 1526 में इब्राहिम लोदी और बाबर के बीच लड़ाई हुई, जिसके परिणाम स्वरुप भारत में मुगल साम्राज्य की नींव पड़ी।
  2. सन 1556 में अकबर और रेवाड़ी के हेमचंद्र उर्फ हेमू के मध्य लड़ाई हुई।
  3. सन् 1761 में अहमद शाह अब्दाली और सरदार सदाशिवराव भाऊ के मध्य लड़ाई हुई थी, जिसमें मराठों की करारी हार ने भारत में ब्रिटिश राज्य की नींव को मजबूत कर दिया था।

पानीपत में सर्वप्रथम

  1. हरियाणा में सबसे अधिक बासमती चावल का निर्यात पानीपत के द्वारा ही किया जाता है।
  2. पानीपत में सबसे अधिक आचार फैक्ट्री हैं। पानीपत का पचरंगा अचार पूरे हरियाणा में प्रसिद्ध है।
  3. हरियाणा के पहले अनाज बैंक का उद्घाटन 17 अप्रैल 2016 को सेक्टर 25 स्थित रघुनाथ धाम मंदिर पानीपत में खोला गया। ईस अनाज बैंक का नाम अन्नपूर्णा वस्त्र एवं अनाज बैंक है।
  4. हरियाणा का प्रथम जिला उर्जा पार्क पानीपत के नौलाथा मे खोला गया।
  5. हरियाणा का सबसे लंबा एलिवेटेड हाईवे जिसकी लंबाई 5.2 किलोमीटर है और जो राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर 44 पर स्थित है यह पानीपत में ही है।

मुख्य पर्यटन स्थल

  1. काबुली बाग – काबुली बाग जो पानीपत के प्रथम युद्ध के बाद बाबर ने लगवाया था, देखने योग्य जगह है। यह बाबर ने पानीपत की प्रथम लड़ाई में इब्राहिम लोदी पर विजय की यादगार में बनवाया था।
  2. काला अंब – काला अंब में सन 1761 में पानीपत का तीसरा युद्ध अफगान सरदार अहमद शाह अब्दाली और मराठा सरदार सदाशिव राव भाऊ के मध्य हुआ था। ईस युद्ध में मराठों की पराजय हुई। इस स्थान पर हरियाणा सरकार ने वॉर हीरोज मेमोरियल विकसित किया है। यहां संग्रहालय की स्थापना भी की गई है।
  3. सलारगंज गेट – पानीपत नगर के मध्य स्थित यह त्रिपोलिया दरवाजा प्राचीन अबादी का प्रवेशद्वार है। प्राचीन वास्तुकला का उत्कृष्ट नमूना कहलाने वाला यह दरवाजा नवाब सलारगंज के नाम से प्रसिद्ध है।
  4. कोस मीनार, गोहांड – शेरशाह सूरी ने महामार्ग (GT रोड) का निर्माण करवाया था। उसने जनता की सुविधा के लिए मार्ग के प्रत्येक कोश पर एक-एक मीनार खड़ी करवाई थी।
  1. स्काई लार्क – पानीपत नगर मे GT रोड पर स्काई लार्क कांपलेक्स स्थित है। हरियाणा टूरिज्म विभाग द्वारा संचालित इस रेस्टोरेंट में सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई है।
  2. ब्लूजे – पानीपत से 18 किलोमीटर दूर समालखा नगर में ब्लू-जे नामक पर्यटक स्थल है।

पानीपत के प्रमुख मंदिर, मस्जिद दरगाह

  1. सिद्ध शिव शनिधाम – सिद्ध शिव शनिधाम श्रद्धालुओं को धार्मिक एकता से रूबरू कराता है। आसपास के क्षेत्रों में इस शनिधाम को दादा-पोता मंदिर के नाम से भी जाना जाता है।
  2. बूअलीशाह कलंदर दरगाह – हरियाणा में चिश्ती संप्रदाय की स्थापना शेख फरीद ने की थी। बू-अलीशाह कलंदर भी चिश्ती संप्रदाय के प्रमुख सूफी संत थे। पानीपत में स्थित बू-अलीशाह कलंदर की दरगाह शिल्प कला का एक उत्कृष्ट नमूना है।
  3. हजरत शेख जलालुद्दीन की दरगाह – शेख जलालुद्दीन पानीपत के प्रमुख सूफी संत हुए हैं। यह बू-अलीकलंदर के समकालीन ही थे।

 

  1. सैयद रोशन अली शाह साहिब की दरगाह – सैयद रोशन अली शाह साहिब की दरगाह भाईचारे की मिसाल है। यहां हर धर्म के लोग भाईचारे के लिए दुआ करने पहुंचते हैं।
  2. अल्ताफ हुसैन हाली की कब्र – अल्ताफ हुसैन हाली उर्दू, फारसी, अरबी व अंग्रेजी के अच्छे ज्ञाता थे। उन्होंने शिक्षा के प्रसार के लिए कई हजार रुपए इकट्ठे करके एक पुस्तकालय बनवाया व बाद में एक छोटा सा स्कूल शुरू करने में जुट गए। जो बाद में हाली हाई स्कूल के नाम से प्रसिद्ध हुआ।
  3. इब्राहिम लोदी की कब्र – यह ऐतिहासिक मकबरा पानीपत के तहसील कार्यालय के निकट स्थित है। सन 1526 में इब्राहिम लोदी ने बाबर के साथ युद्ध किया था, जिसमें उसकी पराजय हुई और वह मारा गया। युद्ध स्थल पर ही इब्राहिम लोदी को दफना दिया गया था और यहां पर उसकी कब्र बना दी गई थी।
  4. काबुली बाग मस्जिद – पानीपत के निकट काबुली बाग में एक मस्जिद तथा तालाब बना हुआ है। यह बाग बाबर ने पानीपत की प्रथम लड़ाई में विजय की खुशी तथा सबसे प्रिय रानी मुसम्मत काबुली बेगम की याद में बनवाया था।
  5. जामा मस्जिद – ईस नगर की मुख्य मस्जिद को जामा मस्जिद कहते हैं, यह नगर के मध्य में और नगर की सबसे बड़ी मस्जिद है।
  6. हजरत ख्वाजा समसुदीन का मकबरा – यह पानीपत के प्रमुख संत हुए हैं जो बू-अलीकलंदर के समकालीन थे और शेख अलीमुद्दीन साबरी के अनुयाई थे।
  7. सलार फकरूदीन हाफिज जमाला का मकबरा – यह मकबरा बू-अलीकलंदर के माता-पिता का मकबरा है।
  8. मुकर्रब खान का मकबरा – मुकर्रब खान का वास्तविक नाम शेख हसन था। मुकर्रब खान जहांगीर के समय में प्रसिद्ध हकीम थे।
  9. देवी तालाब शिव मंदिर – पानीपत के तृतीय युद्ध के पश्चात मराठा सरदार मंगल रघुनाथ ने पानीपत में देवी तालाब शिव मंदिर बनवाया था।
  10. हरियाणा में चिश्ती संप्रदाय की स्थापना फरीदुहीन शकरगंज ने की थी।
  11. शेख अनामउल्लाह की दरगाह
  12. गौस अली शाह की मजार
  13. हजरत शेख जलाउद्दीन की दरगाह
  14. मुकर्बर खान का मकबरा
  15. आध्यात्मिक संग्रहालय
  16. प्रजापति ब्रह्मा कुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय

पानीपत के प्रमुख उद्योग

  1. पानीपत तापीय विद्युत केंद्र यह पानीपत के आसान गांव में स्थित है। इसका नाम चौधरी देवीलाल विद्युत थर्मल प्लांट है। जिसकी क्षमता80 मेगा वाट है।
  2. नेशनल फर्टिलाइजर लिमिटेड इसकी क्षमता – 236000 टन प्रति वर्ष है। ईसकी स्थापना 1979 मे की गई। यहां मुख्य रूप से नाइट्रोजन उर्वरक का उत्पादन होता है। इसने गैस का उत्पादन 20 मार्च 2013 से शुरू किया
  3. यूरिया संयंत्र ईसकी क्षमता 550 टन प्रति दिन है। यहां पिल्ड युरिया का उत्पादन होता है।
  4. तेल शोधक कारखाना यह एशिया का दूसरा सबसे बड़ा तेल रिफाइनरी कारखाना है। जिसकी क्षमता 15 मिलियन टन प्रतिवर्ष है। यह देश का सबसे आधुनिक व सबसे बड़ा तेल कारखाना है। यह इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन कंपनी द्वारा संचालित है।
  5. कैपिटल विद्युत सयंत्र यह पानीपत में विधुत सप्लाई के उतार-चढ़ाव से उर्वरक संयंत्र को बचाने के लिए 111 करोड़ की लागत से बनाया गया है।
  6. कृत्रिम रबड़ संयत्र यह संयंत्र जापान और ताइवान के सहयोग से लगाया गया है। इस सयंत्र में एफ.बी.आर. कृत्रिम रबड का उत्पादन किया जाता है।

 

पानीपत की कुछ महत्वपूर्ण खास बातें

  • पानीपत ऊन उद्योग के लिए प्रसिद्ध है ।
  • दरियों एवं अन्य हथकरघा उद्योगों के कारण पानीपत को बुनकरों का शहर की कहते हैं।
  • हरियाणा में निर्यातकों कि सुविधा के लिए पानीपत व रेवाड़ी में कंटेनर स्टेशन बनाए गएं।
  • नेत्रहीन बच्चों हेतु सरकारी संस्थान व नेत्रहीन व्यस्क हेतु प्रशिक्षण केंद्र पानीपत मे ही स्थित है।
  • हरियाणा का पहला आचार्यकुलम पानीपत के समालखा के डिकाडला गांव में स्थित है।

पानीपत के प्रमुख मेले

  1. कलंदर की मजार का मेला यह रमजान के महीने के बाद चांद के दिन कलंदर की मजार पर लगता है।
  2. पथरी माता का मेला यहां पर लोग मुरादे मांगने व गठजोड उतारने के लिए आते हैं।
  3. माता का मेला भादड
  4. शिवरात्रि का मेला भादड
  5. श्यामजी का मेला पानीपत

पानीपत के प्रमुख व्यक्ति

  1. महेश दत्त शर्मा इनको खादी का पुरोधा भी कहते हैं।
  2.  

आचार्य देवव्रत

  • आचार्य देवव्रत ये हिमाचल के राज्यपाल हैं। यह कुरुक्षेत्र गुरुकुल में आचार्य भी रह चुके हैं।
  1. नीरजा चोपडा इन्होंने जैवलिन थ्रो में विश्व रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक जीता है और राष्ट्रमंडल खेलों में गोल्ड कोस्ट में स्वर्ण पदक जीता हुआ है।
  1. दरिया सिंह मलिक इन्होंने चंद्रावल फिल्म में खुंडा की भूमिका निभाई।
  2. जाह्नवी यह 13 भाषाओं को जानती है।
  3. मोहित अलहावत
  4. राजतिलक
  5. जयसबीर पहलवान

 

  • नदियां यमुना नदी जो इस जिले के पूर्व में बहती है।
  • प्रमुख खनिज गंधक
No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हरियाणा GK
चंडीगढ़
Spread the love

Spread the love गुलाब के फूल का सबसे अधिक उत्पादन चंडीगढ़ में होता है। सिर – कैपिटल परिसर (सेक्टर 1)दिल – सिटी सेंटर (सेक्टर 17) नामकरण चंडी मंदिर के नाम पर इसका नाम चंडीगढ़ रखा गया। चंडीगढ़ का इतिहास यहां पर खुले हाथ स्मारक की स्थापना “ली कार्बुजियर” द्वारा सन …

हरियाणा के सभी 22 जिले
अंबाला
Spread the love

Spread the love ईन प्रशनों से रिलेटिड Video आप हमारे YouTube चैनल पर भी देख सकते हैं click here हरियाणा मे आम का सबसे अधिक उत्पादन अंबाला में होता है। मुख्यालय – अंबाला लिंगानुपात – 882/1000 जनसंख्या – 1128350 स्थापना – 1 नवंबर 1966 उप-मंडल – अंबाला, नारायणगढ़, बराड़ा तहसील …

हरियाणा के सभी 22 जिले
हिसार
Spread the love

Spread the love ईन प्रशनों से रिलेटिड Video आप हमारे YouTube चैनल पर भी देख सकते हैं click here हरियाणा के गठन के समय इस में 7 जिले बनाए गए थे। जिसमें सबसे बड़ा हिसार को बनाया गया। हिसार के गठन के समय ईसका क्षेत्रफल 13891 वर्ग किलोमीटर था। जो …

error: Content is protected !!