Spread the love

ईन प्रशनों से रिलेटिड Video आप हमारे YouTube चैनल पर भी देख सकते हैं click here

3.1. आँख की किरकिरी होने का अर्थ है→अप्रिय लगना
2. लाल पीला होने का अर्थ है→क्रोध करना
3. ‘नमक का दरोगा’ कहानी के लेखक हैं→प्रेमचंद
4. इनमें किस नाटककार ने अपने नाटकों के लिए रंगमंच को अनिवार्य नहीं माना है? →जयशंकर प्रसाद
5. ‘प्रभातफेरी’ काव्य के रचनाकार कौन हैं? →नरेन्द्र शर्मा
6. ‘निशा -निमंत्रण’ के रचनाकार कौन हैं? → हरिवंश राय बच्चन
7. बिहारी किस राजा के दरबारी कवि थे? →जयपुर नरेश जयसिंह के
8. ‘अतीत के चलचित्र’ के रचयिता हैं→महादेवी वर्मा
9. तुलसीदास का वह ग्रंथ कौन-सा है, जिसमें ज्योतिष का वर्णन किया गया है? →रामाज्ञा प्रश्नावली
10. ‘रामचरितमानस’ में प्रधान रस के रूप में किस रस को मान्यता मिली है? →भक्ति रस
11. सर्वप्रथम किस आलोचक ने अपने किस ग्रंथ में ‘देव बड़े हैं कि बिहारी’ विवाद को जन्म दिया?→मिश्रबंधु : हिन्दी नवरत्न
12. इनमें किस आलोचक ने अपना कौन सा आलोचना ग्रंथ लिखकर हिन्दी के स्नातकोत्तर कक्षाओं के पाठ्यक्रम में आलोचना के अभाव को पूरा करने का सर्वप्रथम सफल प्रयास किया था? →श्यामसुन्दर दास : साहित्यालोचन
13.आचार्य रामचन्द्र शुक्ल ने ‘त्रिवेणी’ में किन तीन महाकवियों की समीक्षाएँ प्रस्तुत की हैं? →सूर, तुलसी, जायसी
14. आचार्य रामचन्द्र शुक्ल के अनुसार इनमें एक ऐसा कवि है, जिसका ‘वियोग वर्णन, वियोग वर्णन के लिए ही है, परिस्थिति के अनुरोध से नहीं’? →कबीर
15. ‘सुन्दर परम किसोर बयक्रम चंचल नयन बिसाल। कर मुरली सिर मोरपंख पीतांबर उर बनमाल॥ ये पंक्तियाँ किस रचनाकार की हैं? →सूरदास
रचनाकार की हैं?
4.1.हिन्दी साहित्य के इतिहास के सर्वप्रथम लेखक का नाम क्या है? → गार्सा द तासी
2. ‘पद्मावत’ किसकी रचना है? →मलिक मुहम्मद जायसी
3. ‘बैताल पच्चीसी’ के रचनाकार हैं→सूरति मिश्र
4. ‘लहरें व्योम चूमती उठती। चपलाएँ असंख्य नचती।’ पंक्ति जयशंकर प्रसाद के किस रचना का अंश है?→कामायनी
5. किस छायावादी कवि ने संवाद शैली का सर्वाधिक उपयोग किया है? →जयशंकर प्रसाद
6. व्यवस्थाप्रियता और विद्रोह का विलक्षण संयोग किस प्रयोगवादी कवि में सबसे अधिक मिलता है?→अज्ञेय में
7. भारतेन्दु कृत ‘भारत दुर्दशा’ किस साहित्य रूप का हिस्सा है? →नाटक साहित्य
8. ‘जो अपनी जान खपाते हैं, उनका हक उन लोगों से ज़्यादा है, जो केवल रुपया लगाते हैं।’ यह कथन ‘गोदान’ के किस पात्र द्वारा कहा गया है? →महतो
9. ‘पवित्रता की माप है मलिनता, सुख का आलोचक है दुःख, पुण्य की कसौटी है पाप।’ यह कथन ‘स्कन्दगुप्त’ नाटक के किस पात्र का है? →देवसेना
10. ‘दोहाकोश’ के रचयिता हैं→सरहपा
11. ‘प्रेमसागर’ के रचनाकार हैं→लल्लू लालजी
12. ‘यह युग (भारतेन्दु) बच्चे के समान हँसता-खेलता आया था, जिसमें बच्चों की सी निश्छलता, अक्खड़पन, सरलता और तन्मयता थी।’ यह कथन किस आलोचक का है? →आचार्य रामचन्द्र शुक्ल
13. मनुष्य से बड़ा है उसका अपना विश्वास और उसका ही रचा हुआ विधान। अपने विश्वास और विधान के सम्मुख ही मनुष्य विवशता अनुभव करता है और स्वयं ही वह उसे बदल भी देता है॥’ यह कथन किस  उपन्यासकार ने लिखा है? →हज़ारी प्रसाद द्विवेदी
14. वीरों का कैसा हो वसंत कविता के रचयिता हैं? →सुभद्रा कुमारी चौहान
15. ‘आँसू’ (काव्य) के रचयिता हैं→जयशंकर प्रसाद
5.1. सही वर्तनी का चयन कीजिए? →परीक्षा
2. ‘पंचवटी’ कौन-सा समास है? →द्विगु
3. ‘निरुत्तर’ शब्द का शुद्ध सन्धि विच्छेद है? →निः + उत्तर
4. ‘रामचरितमानस’ में कितने काण्ड हैं? →(7)
5. निम्नलिखित में से कौन सा एक व्यंग्य लेखक है? →हरिशंकर परसाई
6. शुद्ध शब्द क्या है? →कवयित्री
7. ‘इतिहास’ शब्द का शुद्ध विशेषण है-→ऐतिहासिक
8. ‘नवनीत’ शब्द का सही अर्थ है-→मक्खन
9. ‘प्राचीन’ का विलोम है-→अर्वाचीन
10. ‘मनुष्यता’ का विपरीतार्थक है-→बर्बरता
11. किस काल को स्वर्णकाल कहा जाता है? →भक्ति काल
12. सूरदास के गुरु कौन थे? →बल्लभाचार्य
13. ‘जिसका जन्म न हो’ एक शब्द बताएँ? →अजन्मा
14. कौन सा वाक्य शुद्ध है? →रामचरितमानस’ एक धार्मिक ग्रंथ है
15. “कनक-कनक ते सौ गुनी मादकता अधिकाय” में कौन-सा अलंकार है? →यमक
6.1. खड़ीबोली का अरबी-फ़ारसीमय रूप है? →उर्दू भाषा
2.  हिन्दी भाषा का पहला समाचार-पत्र ‘उदंत मार्तण्ड’ किस सन् में प्रकाशित हुआ था? →1826
3. हिन्दी के किस समाचार-पत्र में ‘खड़ीबोली’ को ‘मध्यदेशीय भाषा’ कहा गया है? →बनारस अखबार
4. ‘गाथा’ (गाहा) कहने से किस लोक प्रचलित काव्यभाषा का बोध होता है? →प्राकृत
5. सिद्धों की उद्धृत रचनाओं की काव्य भाषा है? →देशभाषा मिश्रित अपभ्रंश अर्थात् पुरानी हिन्दी
6. अपभ्रंश भाषा के प्रथम व्याकरणाचार्य थे? →हेमचन्द्र
7. देवनागरी लिपि का विकास किस लिपि से हुआ है? →ब्राह्मी लिपि
8. द्रविड़ भाषाओं में सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा है? →तेलुगु
9. किस भाषा को द्रविड़ परिवार की सभी भाषाओं की जननी कहा जाता है? →तमिल
10. किस भाषा को भारतीय आर्य भाषाओं की जननी, भारतीय आर्य  संस्कृति का आधार, देवभाषा आदि नामों से जाना जाता है? →संस्कृत
11. संस्कृत  से सर्वांधिक प्रभावित द्रविड़ भाषा है? →तेलुगु
12. भाषा के सम्बन्ध में ‘हिन्दी’ शब्द का प्रयोग सर्वप्रथम किसने किया? →अमीर ख़ुसरो
13. भारतीय संविधान में हिनीधि को कहा गया है? →राजभाषा
14. राजभाषा आयोग के अध्यक्ष थे? →बी.जी.खेर
15.उर्दू किस भाषा का शब्द है? →तुर्की
7.1. देश में एकमात्र किस राज्य की राजभाषा अंग्रेज़ी है? →नागालैंड
2. बिहारी निम्नलिखित में से किस काल के कवि थे? →रीति काल
3. आचार्य रामचन्द्र शुक्ल कृत ‘हिन्दी साहित्य का इतिहास’ की अधिकांश सामग्री पुस्तकाकार प्रकाशन के पूर्व ‘हिन्दी शब्द- सागर’ की भूमिका में छपी थी। इस भूमिका में उसका शीर्षक था? →हिन्दी साहित्य का विकास
4. अवधी भाषा के सर्वाधिक लोकप्रिय महाकाव्य का नाम है? →रामचरितमानस
5. “जिस कालखण्ड के भीतर किसी विशेष ढंग की रचनाओं की प्रचुरता दिखाई पड़ी है, वह एक अलग काल माना गया है और उसका नामकरण उन्हीं रचनाओं के अनुसार किया गया है” यह मान्यता किस इतिहासकार की है? →आचार्य रामचन्द्र शुक्ल
6. केरल राज्य की राजकीय भाषा है? →मलयालम
7. नागालैंड की राजकीय भाषा है? →अंग्रेज़ी
8. हिनीलख को राजकीय भाषा (कार्यालय की भाषा) कब घोषित किया गया? →26 जनवरी, 1965
9. निम्नलिखित में से कौन-सी भाषा भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में नहीं दी गई है? →अंग्रेज़ी
10. कौन-सी भाषा ऑस्ट्रिक समूह से सम्बन्धित है? →खासी
11. निम्नलिखित भारतीय भाषाओं में कौन-सी भाषा द्रविड़ भाषा की उत्पत्ति नहीं है? →मराठी
12. निम्नलिखित में से किस देश में अधिकतम संख्या में भाषाएँ बोली जाती हैं? →भारत
13. अंगेलखज़ी भाषा को भारत में शिक्षा के माध्यम से आरंभ किया गया? →लॉर्ड मैकाले द्वारा
14. हिनीलख साहितयज के प्रारंभिक काल को आचारयर शुकलत ने क्या कहा है? →वीरगाथा-काल
15. भारत की प्राचीन भाषा है? →संस्कृत
8.1. आसमान पर चढ़ाने का अर्थ है-→अत्यधिक प्रशंसा करना
2. वीरगाथा काल के सर्वश्रेष्ठ कवि माने जाते हैं-→चन्दबरदाई
3.”पृथ्वीराज रासो” के रचनाकार हैं-→चन्दबरदाई
4. कबीरदास की भाषा क्या थी? →सधुक्कड़ी
5. ‘शिवा बावनी’ के रचनाकार हैं-→भूषण
6. बूँदी नरेश महाराज भावसिंह का आश्रित कवि निम्नलिखित में से कौन था? →मतिराम
7. भूषण का निम्नलिखित में से कौन सा लक्षण ग्रंथ है? →शिवराज भूषण
8. निम्नलिखित में से किस रचना की सर्वाधिक टीकाएँ लिखी गई हैं? →बिहारी सतसई
9. वीरगाथा काल के कवि नहीं हैं-→नामदेव
10. हिन्दी कविता को छंदों की परिधि से मुक्त कराने वाले थे-→सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’
11. ‘पल्लव’ के रचयिता हैं-→सुमित्रानंदन पंत
12. ‘चिंतामणि’ के रचयिता हैं-→रामचन्द्र शुक्ल
13. निम्नलिखित में से सबसे पहले अपनी आत्मकथा हिनी्ष में किसने लिखी? →राजेन्द्र प्रसाद
14. आंचलिक रचनाएँ किससे संबधित होती हैं? →क्षेत्र विशेष से
15. निर्गुण भक्ति काव्य का प्रमुख कवि है-→कबीरदास
9.1. हिन्दी के सर्वप्रथम प्रकाशित पत्र का नाम क्या है? →उतण्ड मार्तण्ड
2. छायावाद के प्रवर्तक का नाम है-→जयशंकर प्रसाद
3. ‘प्रगतिवाद उपयोगितावाद का दूसरा नाम है।’ यह कथन किसका है? →नन्द दुलारे बाजपेयी
4. पेवामचनदव के अधूरे उपन्यास का नाम क्या है? →मंगलसूत्र
5. रामधारी सिंह ‘दिनकर’ को भारतीय ज्ञानपीठ पुरस्कार प्राप्त हुआ था-→’उर्वशी’ पर
6. ‘सुहाग के नूपुर’ के रचयिता हैं-→अमृतलाल नागर
7. ‘संस्कृति के चार अध्याय’ किसकी रचना है? →रामधारी सिंह ‘दिनकर’
8. ‘अशोक के फूल’ (निबंध सग्रह) के रचनाकार हैं-→हज़ारी प्रसाद द्विवेदी
9. ‘झरना’ (काव्य संग्रह) के रचयिता हैं-→जयशंकर प्रसाद
10. ‘दुरित, दुःख, दैन्य न थे जब ज्ञात, अपरिचित जरा-मरण-भ्रू पात।।’ पंक्ति के रचनाकार हैं?→सुमित्रानंदन पंत
11. ‘निराला के राम तुलसीदास के राम से भिन्न और भवभूति के राम के निकट हैं।’ यह कथन किस हिन्दी आलोचक का है? →डॉ. रामविलास शर्मा
12. ‘राम की शक्तिपूजा’ में निराला की इन दो कविताओं का सारतत्त्व समाहित है?→जागो फिर एक बार और तुलसीदास
13. ‘भारत भारती’ (काव्य) के रचनाकार हैं-→मैथिलीशरण गुप्त
14. ‘मनुष्य के आचरण के प्रवर्तक भाव या मनोविकार ही होते हैं, बुद्धि नहीं।’ यह कथन है? →रामचन्द्र शुक्ल का
15. ‘रस मीमांसा’ रस-सिद्धांत से सम्बन्धित पुस्तक है, इस पुस्तक के लेखक हैं? →आचार्य रामचन्द्र शुक्ल
10.1. ‘परहित सरिस धर्म नहि भाई, परपीड़ा सम नहिं अधमाई’। इस पंक्ति के रचयिता कौन हैं?→तुलसीदास
2. ‘साँच बराबर तप नहीं, झूठ बराबर पाप’। इस पंक्ति के रचयिता कौन हैं? →कबीर
3. ‘अष्टछाप’ के सर्वश्रेष्ठ भक्त कवि कौन हैं? →सूरदास
4. भूषण किस रस के कवि हैं? →वीर रस
5. हिनीलस का आदि कवि किसे माना जाता है? →स्वयंभू
6. उपन्यास और कहानी का मूल अन्तर है, उसका -→विषय निरूपण
7. हिनीलस पत्रिका ‘कादम्बिनी’ के संपादक कौन हैं? →राजेन्द्र अवस्थी
8. रामधारी सिंह ‘दिनकर’ किस रस के कवि माने जाते हैं? →वीर रस
9.   सूर्यकांत त्रिपाठी निराला को कैसा कवि माना जाता है? →क्रांतिकारी
10. ‘चारु’ शब्द की शुद्ध भावात्मक संज्ञा है-→चारुता
11.हिन्दी भाषा की बोलियों के आधार पर छती्कसगढ़ी बोली है-→पूर्वी हिन्दी
12. ‘घनिष्ठ’ की शुद्ध उत्तरावस्था है-→घनिष्ठतर
13. निम्नलिखित में कौन सा एक उपन्यास जैनेन्द्र द्वारा रचित है? →परख
14. ‘कामायनी’ किस प्रकार का ग्रंथ है? →महाकाव्य
15. ‘गागर में सागर’ भरने का कार्य किस कवि ने किया है? →बिहारीलाल
Øमध्यकालीन भारतीय आर्य भाषाओं का स्थिति काल रहा है→500 ई.पू. से 1000 ई.पू.
Ø’प्राचीन देशभाषा’ (पूर्व अपभ्रंश) को ‘अपभ्रंश’ तथा परवर्ती अर्थात् अग्रसरीभूत अपभ्रंश को ‘अवहट्ठ’ किस भाषा वैज्ञानिक ने कहा है→सुनीतिकुमार चटर्जी एवं सुकुमार सेन
Øअर्द्धमागधी अपभ्रंश से इनमें से किस बोली का विकास हुआ है→बंगाली
Øकामताप्रसाद गुरु का हिन्दी व्याकरण विषयक ग्रंथ, जो नागरी प्रचारिणी सभा, काशी से प्रकाशित हुआ था, उसका नाम था→हिन्दी व्याकरण
Øदेवनागरी लिपि है→अक्षरात्मक
Øविद्यापति की उस प्रमुख रचना का नाम बताइए, जिसमें ‘अवहट्ठ’ भाषा का बहुतायत प्रयोग हुआ है→कीर्तिलता
Øजॉर्ज ग्रियर्सन ने पश्चिमोत्तर समुदाय की भाषा को आधुनिक भारतीय आर्यभाषाओं की किस उपशाखा में रखा है→बाहरी उपशाखा
Øउर्दू किस भाषा का मूल शब्द है→तुर्की भाषा
Ø’साहित्य का इतिहास दर्शन’ ग्रंथ के लेखक का नाम है→डॉ. नलिन विलोचन शर्मा
Øजहाँ शब्दों, शब्दांशों या वाक्यांशों की आवृत्ति हो, किंतु उनके अर्थ भिन्न हों, वहाँ निम्न में से कौन-साअलंकार है→यमक
Øगिला’ कहानी के लेखक का नाम है→प्रेमचन्द्र
Ø’गंगावतरण’ काव्य के रचयिता हैं→जगन्नाथदास रत्नाकर
Øछायावादी कवियों ने जब आध्यात्मिक प्रेम को अपनी कविताओं में व्यक्त किया तो ऐसी कविताओं को किस वाद के अंतर्गत रखा गया है→रहस्यवाद
Øगोवा की स्वीकृत राजभाषा है→कोंकणी
Ø’ध्रुव स्वामिनी’ नाटक के रचयिता हैं→जयशंकर प्रसाद
Ø’परिवर्तन’ नामक कविता सर्वप्रथम सुमित्रानन्दन पंत के किस कविता संग्रह में संगृहीत हुई है→पल्लव
Øभिखारीदास की रचना का नाम है→काव्य निर्णय
Øउन्नीसवीं सदी की साहित्य- सर्जना का मूल हेतु है→पराधीनता का बोध
Ø’यह प्रेम को पंथ कराल महा तरवारि की धार पै धावनो है’, नामक पंक्ति किस कवि द्वारा सृजित है→बोधा
Øआचार्य केशवदास को ‘कठिन काव्य का प्रेत’ किस आलोचक ने कहा है→आचार्य रामचन्द्र शुक्ल
Øभक्तिकाल का एक कवि अवतारवाद और मूर्तिपूजा का विरोधी है. इसके बावज़ूद वह हिन्दुओं के जन्म-मृत्यु सम्बन्धी सिद्धांत को मानता है, ऐसा रचनाकार है→कबीर
Øप्रथम सूफ़ी प्रेमाख्यानक काव्य के रचयिता हैं→मुल्ला दाऊद
Øभक्तिकालीन कवियों में एक ऐसा ख्यातिलब्ध रचनाकार है जो अपने काव्य में लोकव्यापी प्रभाव वाले कर्म और लोकव्यापिनी दशाओं के वर्णन में माहिर है। ऐसे रचनाकार का नाम है→तुलसीदास
Ø’जायसी -ग्रंथावली’ के सम्पादक का नाम है→रामचन्द्र शुक्ल
Øदोहा छन्द में श्रृंगारी रचना प्रस्तुत करने वालों में हिन्दी के सर्वाधिक ख्यातिलब्ध कवि हैं→बिहारी
Ø’कंचन तन धन बरन बर रहयौ रंग मिलि रंग। जानी जाति सुबास ही केसरि लाई अंग॥’ उपर्युक्त पंक्तियाँ किसकी हैं?→ बिहारी
Øजलप्लावन भारतीय इतिहास की ऐसी प्राचीन घटना है जिसको आधार बनाकर छायावादी युग में एक महाकाव्य लिखा गया है। उसका नाम है→कामायनी
Øशब्दार्थों सहित काव्यम् यह उक्ति किसकी है→भामह
Øढ़ाई आखर प्रेम के, पढ़ै सो पंडित होय॥ प्रस्तुत पंक्ति के रचयिता हैं→कबीर दास
Øचौपाई के प्रत्येक चरण में मात्राएँ होती हैं→16
Ø’संदेश रासक’ के रचयिता हैं→अब्दुल रहमान
Ø’साखी’ के रचयिता हैं→कबीरदास
Øलोगहिं लागि कवित्त बनावत, मोहिं तौ मेरे कवित्त बनावत॥ प्रस्तुत पंक्ति के रचयिता हैं→घनानन्द
Øबैर क्रोध का अचार या मुरब्बा है, यह कथन किसका है→रामचन्द्र शुक्ल
Øरामभक्त कवि नहीं हैं→नरोत्तमदास
Øजीवन में हास्य का महत्त्व इसलिए है कि, वह जीवन को→सरस बनाता है
Øश्रृंगार रस का स्थायी भाव है→रति
Øरहीम द्वारा लिखित इन पंक्तियों में ‘बड़े’ शब्द का प्रयोग जिस रूप में हुआ है, वह है-
Øबड़े बड़ाई ना करें, बड़े न बोलें बोल।
Øरहिमन हीरा कब कहै, लाख टका मेरो मोल॥→ संज्ञा
Øकिस रस का संचारी भाव उग्रता, गर्व, हर्ष आदि है→वीर
Øकबीरदास की भाषा थी→सधुक्कड़ी
Ø”रहिमन पानी राखिए बिन पानी सब सून” में कौन-सा अलंकार है→श्लेष
Ø’कितने पाकिस्तान’ नामक उपन्यास के लेखक हैं→कमलेश्वर
Øराजेन्द्र कुमार द्वारा सम्पादित पुस्तक ‘आलोचना का विवेक’ किस विधा से संबंधित है→आलोचना
Ø’भ्रमरगीत’ के रचयिता हैं→सूरदास
Ø’ईदगाह’ कहानी के रचनाकार हैं→प्रेमचंद
Øकवि कालिदास की ‘अभिज्ञान शाकुंतलम’ का हिन्दी अनुवाद किसने किया→राजा लक्ष्मण सिंह
Ø’यह काम मैं आप कर लूँगा’, पंक्तियों में ‘आप’ है→निजवाचक सर्वनाम
Øनिम्नलिखित में से कौन-सा स्त्रीलिंग में प्रयुक्त होता है→ऋतु
Ø’तरनि तनूजा तट तमाल तरुवर बहु छाए’ में कौन-सा अलंकार है→अनुप्रास अलंकार
Øउपर्युक्त पंक्तियों में रस है-
Ø’राग है कि, रूप है कि
Øरस है कि, जस है कि
Øतन है कि, मन है कि
Øप्राण है कि, प्यारी है’→अद्भुत
Øमुग़ल काल में किस भाषा को रेख्यां कहा गया है→उर्दू
Øमुग़ल काल की राजकीय भाषा थी→उर्दू
Øहिन्दी भाषा बोलने वाले भारतीयों का प्रतिशत लगभग है→40 प्रतिशत
Øदक्षिण भा
Øदक्षिण भारत में हिन्दी भाषा के क्षेत्र में किसने प्रचार-प्रसार किया→सी. राजगोपालाचारी
Øहिन्दी के पश्चात भारत की दूसरी सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा है→बांग्ला
Øदक्षिण भारत की सर्वाधिक प्राचीन भाषा है→तमिल
Øभारत की किस भाषा को ‘इटालियन ऑफ़ द ईस्ट’ कहा जाता है→तेलुगु
Øगंगा छवि वर्णन’ कविता के रचनाकार हैं→भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
Ø’अनामदास का पौधा’ उपन्यास के रचयिता हैं→हज़ारी प्रसाद द्विवेदी
Ø’वही मनुष्य है जो मनुष्य के लिए मरे’ के रचयिता हैं→मैथिलीशरण गुप्त
Øकौन-सी भाषा देवभाषा है→संस्कृत
Øचोल शासकों की भाषा क्या थी→तमिल
Øनिम्नलिखित में से कौन-सी भाषाएँ हाल ही में प्राचीन भाषाएँ घोषित की गई है→कन्नड़ एवं तेलुगु
Øभारत की तीसरी सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा है→तेलुगु
Øनिम्नलिखित में से किसमें तमिल एक प्रमुख भाषा है→सिंगापुर
Øआचार्य विश्वनाथ प्रसाद मिश्र ने रीतिकाल को ‘श्रृंगारकाल’ नाम दिया, लेकिन उन्होंने इस पर जो ग्रंथ लिखा, उसका नाम ‘हिन्दी का श्रृंगारकाल’ नहीं है, बल्कि उसका नाम है→हिन्दी साहित्य का अतीत, भाग -2
Ø’भारत मित्र’ पत्र (जो कलकत्ता से सन् 1934 में प्रकाशित हुआ था) के एक सम्पादक थे→रुद्रदत्त शर्मा
Ø’मेवाड़ की पन्ना’ नामक धाय के अलौकिक त्याग का ऐतिहासिक वृत्त लेकर ‘राजमुकुट’ नाटक की रचना की गई थी, इस नाटक के लेखक का नाम है→गोविंद बल्लभ पंत
Øडॉ. कृष्ण शंकर शुक्ल ने आचार्य केशवदास पर एक समीक्षात्मक पुस्तक लिखी थी, उस पुस्तक का नाम है?→ केशव की काव्यकला
Ø’आत्मनिर्भरता’ निबंध के रचनाकार हैं→बालकृष्ण भट्ट
Ø’समांतर कहानी’ के प्रवर्तक कौन थे→कमलेश्वर
Ø’श्रद्धा’ किस कृति की नायिका हैं→कामायनी
Ø’तरुवर फल नहिं खात है, सरवर पियहिं न पान’। इस पंक्ति के रचयिता हैं→रहीम
Ø’तरनि-तनूजा-तट तमाल तरुवर बहु छाए’। इस पंक्ति के रचयिता हैं→भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
Øभूषण की कविता का प्रधान स्वर है→प्रशस्तिपरक
Øभक्तिकाल की रामाश्रयी शाखा के निम्नलिखित में से कौन-से कवि हैं→तुलसीदास
Øभक्तिकाल में एक ऐसा कवि हुआ, जिसने अपने भाव व्यक्त करने के लिए उर्दू, फ़ारसी, खड़ीबोली आदि के शब्दों का मुक्त उपयोग किया है?→ कबीर
Øहिन्दी के प्रथम गद्यकार हैं→लल्लूलाल
Ø’राग दरबारी’ उपन्यास के रचयिता हैं→श्रीलाल शुक्ल
Ø’पूस की रात’ कहानी के रचनाकार हैं→प्रेमचन्द
Ø’पंच परमेश्वर’ के लेखक हैं→प्रेमचन्द
Ø’तोड़ती पत्थर’ (कविता) के कवि हैं→सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’
Ø’हार की जीत’ (कहानी) के कहानीकार हैं→सुदर्शन
Ø’रानी केतकी की कहानी’ के रचयिता हैं→इंशा अल्ला ख़ाँ
Ø’शिव शंभु के चिट्ठे’ से संबंधित रचनाकार हैं→बाल मुकुन्द गुप्त
Ø’रसिक प्रिया’ के रचयिता हैं→केशवदास
Ø’कुटज’ के रचयिता हैं→हज़ारी प्रसाद द्विवेदी
Øमसि कागद छुयो नहीं कलम गही नहिं हाथ॥ प्रस्तुत पंक्ति के रचयिता हैं→कबीरदास
Ø’चन्दन विष व्यापत नहीं, लिपटे रहत भुजंग’। इस पंक्ति के रचयिता हैं→रहीम
Ø’जब-जब होय धर्म की हानी, बाढ़हिं असुर अधम अभिमानी’। इस पंक्ति के रचयिता हैं→तुलसीदास
Ø”यदि चादर के बाहर……..पसारोगे तो पछताओगे”→पैर
Ø(वाक्य में उचित विराम चिह्न लगाएँ) उसने एम ए बी एड पास किया है→एम.ए., बी.एड
Ø’महाभोज’ रचना की प्रधान समस्या को उजागर करने वाले विकल्प को चुनिए→राजनीतिक समस्या
Øअर्द्धसम मात्रिक जाति का छन्द है→दोहा
Øतोड़ती पत्थर’ कैसी कविता है→यथार्थवादी
Øअवधी भाषा के सर्वाधिक लोकप्रिय महाकाव्य का नाम है→रामचरितमानस
Øविद्यापति की ‘पदावली’ की भाषा क्या है→मैथिली
Ø’शेष कादम्बरी’ के रचयिता हैं→अलका सरावगी
Ø’मुख रूपी चाँद पर राहु भी धोखा खा गया’ पंक्तियों में अलंकार है→रूपक
Øजहाँ किसी वस्तु का लोक-सीमा से इतना बढ़कर वर्णन किया जाए कि वह असम्भव की सीमा तक पहुँच जाए, वहाँ अलंकार होता है→अत्युक्ति
Øअपभ्रंश का वाल्मीकि किसे कहा गया है→स्वयंभू
Øबिहारी, बंगाली, उड़िया और असमिया भाषाओं का जन्म कौन-से अपभ्रंश से हुआ है→मागधी
Øनिम्न में से कंठ्य ध्वनियाँ कौन-सी हैं→क, ख
Ø’क’, ‘ख’, ‘ग’, और ‘फ’ में से कौन-सा अक्षर उर्दू से लिया गया है→फ
Øवर्ण के द्वितीय व चतुर्थ व्यंजन क्या कहलाते हैं→महाप्राण
Øभावों और विचारों को प्रकट करने वाले मानव-मुख से निकले ध्वनि-संकेतों को क्या कहते हैं→भाषा
Øएक भाषा दूसरी भाषा से क्या लेती है→शब्दावली
Øसर्वप्रथम भाषा का प्रयोग किस रूप में हुआ→सांकेतिक
Øकिस रस को ‘रसराज’ कहा जाता है→श्रृंगार रस
Øसंस्कृत भाषा का प्राचीनतम रूप कहाँ दिखाई पड़ता है→ऋग्वेद
Øहिन्दी भाषा का जन्म हुआ है→पाली प्राकृत से
Ø’ग्रियर्सन’ ने किसे ‘देशी हिन्दुस्तानी’ कहा है→खड़ी बोली
Øस्वयंभू ने किस भाषा को ‘देसी भाषा’ कहा है→अपभ्रंश
Øकिस पुस्तक में हिन्दी का सर्वप्रथम उल्लेख हुआ→रामचरितमानस
Øशौरसेनी, पैशाची, महाराष्ट्री, अर्द्धमागधी
Øइनमें से कौन भरतमुनि के रस-सूत्र का व्याख्याकार है→भट्टलोल्लट
Ø’रहिमन पानी राखिए बिन पानी सब सून’ में कौन-सा अलंकार है→श्लेष
Øजयशंकर प्रसाद की ‘चन्द्रगुप्त’ निम्नांकित में से क्या है→नाटक
Øतुलसीदास की किस रचना का सम्बन्ध ज्योतिष से है→रामाज्ञा प्रश्न
Ø’कवि सम्राट’ इसे कहा जाता है→अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’
Øनिम्न में से स्त्रीलिंग शब्द कौन-सा है→ठंडाई
Øहिन्दी ग़ज़ल लेखन का कार्य किसने प्रारंभ किया→दुष्यंत कुमार
Øनिम्नलिखित में कौन-सी हिन्दी पत्रिका है→केरल ज्योति
Ø’मधुर-मधुर मेरे दीपक जल’ में कौन-सा भाव व्यक्त हुआ है→विरह और रहस्य
Ø’बरवै रामायण’ किसकी रचना है    →तुलसीदास
Øनिम्नलिखित में से अर्द्ध स्वर कौन-सा है→य
Øहिन्दी की मूल उत्पत्ति किससे हुई है→वैदिक संस्कृत
Øनिम्नलिखित में से कौन-सी भाषा देवनागरी लिपि में लिखी जाती है→मराठी भाषा
Øइनमें संयुक्त व्यंजन कौन-सा है→ज्ञ
Øसूर्य शब्द का स्त्रीलिंग क्या होगा→सूर्या
Øहिन्दी साहित्य के आधुनिक काल को इस नाम से भी अभिहित किया जाता है→गद्य काल
Øमुझे तोड़ लेना वनमाली, उस पथ पर देना तुम फेंक
Øमातृभूमि पर शीश चढ़ाने, जिस पथ जावें वीर अनेक
Øप्रस्तुत पंक्ति के रचयिता हैं→माखन लाल चतुर्वेदी
Øरामधारी सिंह दिनकर किस रस के कवि माने जाते हैं→वीर रस
Ø’मधुशाला’ के लेखक हैं→हरिवंश राय बच्चन
Øजहाँ बिना कारण के कार्य का होना पाया जाए वहाँ कौन सा अलंकार होता है→विभावना
Øहिन्दी की पहली कहानी लेखिका का नाम है→बंग महिला
Ø’मोक्ष की इच्छा करने वाला’ कहलाता है→मुमुक्षु
Øसंज्ञा के कितने भेद हैं→तीन
Øनिम्नलिखित में से कौन-सी रचना खड़ी बोली की है→साकेत
Ø’ठेले पर हिमालय’ किसकी रचना है→धर्मवीर भारती
Øसबसे प्राचीन कौन सी वीरता है।→वाकवीरता
Ø’आँसू’ का बहुवचन क्या होगा→आँसुओं
Ø’नीलकमल’ में कौन-सा समास है→कर्मधारय समास
Ø’गीतांजलि’ के रचयिता कौन हैं→रबीन्द्रनाथ टैगोर
Øचाय किस भाषा का शब्द है→चीनी
Øव्याकरण की दृष्टि से ‘प्रेम’ शब्द क्या है→भाववाचक संज्ञा
Øउत्तर भारत में भक्ति का प्रसार करने का श्रेय किसे प्राप्त है→स्वामी रामानंद
Øहिन्दी का पहला दैनिक समाचार-पत्र कौन-सा था→उतण्ड मार्तण्ड
Øजयशंकर प्रसाद की काव्य-भाषा कौन-सी है→खड़ी बोली
Ø’दाँतों तले अंगुली दबाना’ का अर्थ क्या होगा→आश्चर्य करना
Øभारत-विभाजन और सांप्रदायिकता की घटनाओं से संबंधित कौन-सी कहानी है→मलवे का मालिक
Øभाषा के शुद्ध रूप का ज्ञान किससे होता है→व्याकरण
Øनिम्नलिखित में से कौन-सी रचना रामधारी सिंह ‘दिनकर’ की है→उर्वशी
Øमैथिली का विकास किस अपभ्रंश से माना जाता है→मागधी अपभ्रंश
Øरामकथा पर आधारित काव्य कौन-सा है→अग्निलीक
Øकाव्य क्षेत्र में ‘प्रबन्ध शिरोमणि’ की उपाधि किसे दी गई है→मैथिलीशरण गुप्त
Øजहाँ उपमेय में अनेक उपमानों की शंका होती है, वहाँ कौन-सा अलंकार होता है→संदेह
Øहिन्दी साहित्य के इतिहास के सर्वप्रथम लेखक का नाम क्या है→गार्सा द तासी
Ø’प्रेमसागर’ के लेखक कौन हैं।→लल्लू लाल
Ø’चरण-कमल बन्दौ हरि राई’ में कौन-सा अलंकार है→रूपक अलंकार
Øजिन शब्दों के अंत में ‘अ’ आता है, उन्हें क्या कहते हैं→अकारांत
Øसूर्यकान्त त्रिपाठी निराला की कविता ‘जूही की कली’ किसका
शौरसेनी, पैशाची, महाराष्ट्री, अर्द्धमागधी और मागधी, ये निम्न में से किस भाषा के पाँच भेद हैं→प्राकृत
Øभारतीय आर्यों की भाषा में ‘ट’ वर्ग की ध्वनियाँ किसकी देन हैं→द्रविड़ भाषाओं की
Ø’ट’, ‘ठ’, ‘ड’, ‘ढ’ वर्णों का प्रयोग होता है→ओज
Øवीर रस का स्थायी भाव क्या होता है→उत्साह
Øस्थायी भावों की कुल संख्या कितनी है→9
Ø’धनाक्षरी छंद’ किस प्रकार का छंद है→वर्णित
Øनिम्न में से पृथ्वी का पर्यायवाची शब्द कौन-सा है→रत्नगर्भा
Øहिन्दी साहित्य का नौवाँ रस कौन-सा है→शांत रस
Øसर्वश्रेष्ठ रस किसे माना जाता है।→श्रृंगार रस
Øछंद का सर्वप्रथम उल्लेख कहाँ मिलता है→ऋग्वेद
Øहिन्दी साहित्य के आरंभिक काल को आचार्य रामचन्द्र शुक्ल ने क्या कहा है→वीरगाथा काल
Ø’शिवा बावनी’ के रचनाकार कौन हैं→भूषण
Øनिम्न में से प्रेमचंद के अधूरे उपन्यास का नाम क्या है→मंगलसूत्र
Øहिन्दी के प्रथम गद्यकार हैं→लल्लूलाल
Øनिम्नलिखित में से कौन-सी बोली पूर्वी हिन्दी की नहीं है→मालवी बोली
Ø’जब-जब होय धर्म की हानी, बाढ़ै असुर अधम अभिमानी’, पंक्ति के रचनाकार कौन हैं→तुलसीदास
Ø’अनिल’ का पर्यायवाची शब्द क्या है→पवन
Ø’कठिन काव्य के प्रेत हैं’, यह किस कवि के लिए कहा गया है→अज्ञेय
Ø’मुख रूपी चाँद पर राहु भी धोखा खा गया’, इन पंक्तियों में कौन-सा अलंकार है→रूपक
Øवियोगी हरि जी का पूर्ण नाम क्या था→श्री हरि द्विवेदी
Øकौन-सी बोली पश्चिमी हिन्दी की नहीं है→बघेली बोली
Øइनमें से सही शब्द कौन-सा है→श्रृंगार
Ø’पंचवटी’ शब्द में कौन-सा समास है→बहुब्रीहि
Ø’कुरुक्षेत्र’ को क्या कहा जाता है।→रणक्षेत्र
Øहिन्दी वर्णमाला में स्वरों की संख्या कितनी है→दस
Øजयशंकर प्रसाद का संबंध किस काव्य-प्रवृत्ति से है→छायावाद
Øनिम्नलिखित भाषाओं में से कौन-सी भाषा उत्तर प्रदेश में नहीं बोली जाती→मैथिली भाषा
Øभक्ति को रस रूप में प्रतिष्ठित करने वाले आचार्य कौन हैं→वल्लभाचार्य
Øह्रदय की वह कौन-सी स्थायी दशा है, जो सदाचार को प्रेरित करती है→शील दशा
Øप्रयोगवाद को ‘बैठे ठाले का धन्धा’ किस आलोचक ने कहा→नन्द दुलारे वाजपेयी
Øचंदबरदाई किसके दरबारी कवि थे→पृथ्वीराज चौहान के
Øअपभ्रंश को ‘पुरानी हिन्दी’ किसने कहा है→चन्द्रधर शर्मा गुलेरी
Øकबीर किस काव्य धारा के कवि हैं→ज्ञानमार्गी
Ø’विपाशा पत्रिका’ का प्रकाशन किस प्रदेश से होता है→उत्तर प्रदेश
Øसाहित्य को क्या माना गया है→कठिन तपस्या और महान यज्ञ
Øनिम्न में से किन्हें ‘राष्ट्रकवि’ कहा जाता है→रामधारी सिंह दिनकर
Øकबीरदास की भाषा थी→सधुक्कड़ी बोली
Ø’जनमेजय का नागयज्ञ’ किसकी कृति हैं→जयशंकर प्रसाद
Ø’श्रद्धा’ किस कृति की नायिका है→कामायनी
Øहिन्दी नाटकों के मंचन में ‘यक्षगान’ का प्रयोग किसने किया है→गिरीश कर्नाड
Øआचार्य रामचन्द्र शुक्ल के निबन्ध संग्रह का नाम है→चिंतामणि
Øभारत में सर्वाधिक किस भाषा का प्रयोग किया जाता है→हिन्दी भाषा
Øअधिकतर भारतीय भाषाओं का विकास किस लिपि से हुआ→ब्राह्मी लिपि
Øहिन्दी खड़ी बोली किस अपभ्रंश से विकसित हुई है→शौरसेनी
Øश्रृंगार रस का स्थायी भाव क्या है→अद्भुत
Øमाधुर्य गुण का किस रस में प्रयोग होता है→भयानक
Øनवल सुन्दर श्याम में कौन-सा अलंकार है→उल्लेख अलंकार
Ø’कामायनी’ किस प्रकार का ग्रंथ है→महाकाव्य
Øकालिदास की अन्तिम रचना ‘अभिज्ञान शाकुन्तलम्’ का हिन्दी अनुवाद किसने किया था→राजा लक्ष्मण सिंह
Øतुलसीदास ने अपनी रचनाओं में किसका वर्णन किया है→राम
Øज्ञानपीठ पुरस्कार पाने वाले हिन्दी के प्रथम साहित्यकार हैं→सुमित्रानन्दन पंत
Ø’आकाशदीप’ कहानी के लेखक हैं→जयशंकर प्रसाद
Ø’रामचरितमानस’ में कितने काण्ड हैं→7
Ø’राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय’ कहाँ है→नई दिल्ली
Øश्रृंगार रस का स्थायी भाव है→रति
Øजाकी रही भावना जैसी, प्रभु मूरत देखी तिन तैसी। प्रस्तुत पंक्ति के रचयिता हैं→तुलसीदास
Øभारतीय संविधान के किस अनुच्छेद में हिन्दी को राजभाषा घोषित किया गया है→343
Øखड़ी बोली का प्रयोग सबसे पहले किस पुस्तक में हुआ→प्रेम सागर
Øदेवनागरी लिपि का विकास किस लिपि से हुआ है→ब्राह्मी लिपि
Øनिम्नलिखित शब्दों में से किसमें व्यंजन संधि है→सत्कार
Ø’भारत भारती’ (काव्य) के रचयिता का नाम है→मैथिलीशरण गुप्त
Øसर्वनाम कितने प्रकार के होते हैं→छ:
Øभरतमुनि ने अपभ्रंश को नाम दिया है→अशुद्धभाषा
Ø’महोदय’ में कौन-सी संधि है→गुण
Øअष्टछाप के कवियों में प्रथम नियुक्त कीर्तनकार कवि कौन थे→सूरदास
Ø’उद्धवशतक’ किसकी कृति है→जगन्नाथदास रत्नाकर
Ø’प्रभुजी तुम चन्दन हम पानी’ किसकी पंक्ति है→रैदास
Ø’एक भारतीय आत्मा’ नाम से कविता की रचना किसने की→माखन लाल चतुर्वेदी ने
Øअज्ञेय की कौन-सी रचना यात्रा पर आधारित है→एक बूंद सहसा उछली
Øइनमें से कौन भरतमुनि के रस-सूत्र का व्याख्याकार है→भट्टलोल्लट
Ø’रहिमन पानी राखिए बिन पानी सब सून’
क्या कहते हैं→अकारांत
Øसूर्यकान्त त्रिपाठी निराला की कविता ‘जूही की कली’ किसका उदाहरण है→मुक्त छंद का
Øवल्लभाचार्य किस सम्प्रदाय के संस्थापक हैं→शुद्धाद्वैत
Øनिम्न में से किस पुस्तक में ‘भ्रमरगीत’ का प्रसंग है→सूरसागर
Ø’गागर में सागर’ मुहावरे का अर्थ क्या है→संक्षेप में गहरी बात कहना
Ø2007 ई. का आठवां ‘विश्व हिन्दी सम्मेलन’ कहाँ आयोजित हुआ था→न्यूयॉर्क
Øचौपाई के चारों चरणों में कितनी मात्राएँ होती है→सोलह
Øअपभ्रंश शब्द का प्रयोग सर्वप्रथम किसने किया→पतंजलि
Øभारतेन्दु हरिशचंद्र के अनुसार हिन्दी नयी चाल में कब ढली→1873 ई.
Ø’तोड़ती पत्थर’ कैसी कविता है→यथार्थवादी
Ø’शोभित कर नवनीत लिए, घुटरुनि चलत रेनु तन मण्डित मुख दधि लेप किए’। इन पंक्तियों में कौन-सारस है→वात्सल्य रस
Øरीतिकाल का वह कौन-सा कवि है, जो अपनी मात्र एक कृति से हिन्दी साहित्य में अमर हो गया→बिहारी
Øनिम्नलिखित में से ‘छायावाद’ के प्रवर्तक का नाम क्या है→जयशंकर प्रसाद
Øनिम्न विकल्पों में से कौन-सा एक महाकाव्य नहीं है→कुरुक्षेत्र
Øअर्थ के आधार पर वाक्य के कितने भेद होते हैं→आठ
Øमनोविश्लेषणात्मक शैली के उपन्यासकार कौन हैं→इलाचन्द्र जोशी
Øबिहारी निम्नलिखित में से किस काल के कवि थे→रीतिकाल
Øदोपहर के बाद के समय को क्या कहा जाता है→अपराह्न
Ø’बुँदेले हरबोलों के मुँह हमने सुनी कहानी थी।
Øखूब लड़ी मर्दानी वह तो झाँसी वाली रानी थी॥’
Øप्रस्तुत उपरोक्त पक्तियों के रचयिता कौन हैं→सुभद्रा कुमारी चौहान
Øनीलगाय में कौन-सा समास है→कर्मधारय
Øहिन्दी भाषा में कितने वचन होते हैं→दो
Ø’विनयपत्रिका’ के रचयिता का नाम क्या है→तुलसीदास
Øप्रथम सूफ़ी प्रेमाख्यानक काव्य के रचयिता कौन हैं→मुल्ला दाऊद
Øनिम्नलिखित में से कौन-सा शब्द ‘तत्सम’ है→काल
Øचौपाई के चारों चरणों में कितनी मात्राएँ होती हैं→सोलह
Ø’अशोक के फूल’ (निबंध-संग्रह) के रचनाकार कौन हैं→हज़ारी प्रसाद द्विवेदी
Øहिन्दी साहित्य के आधुनिक काल को इस नाम से भी अभिहित किया जाता है→गद्य काल
Ø’मानवीकरण अलंकार’ का प्रयोग किस प्रकार की कविता में हुआ है→नयी कविता में
Ø’रामचरितमानस’ किस भाषा में लिखा गया है→अवधी
Øपृथ्वीराज रासो’ किस काल की रचना है→आदि काल
Ø’विखंडन’ की अवधारणा का संबंध किस ‘वाद’ से है→संरचनावाद
Øजायसी के सर्वोत्कृष्ट ग्रंथ का नाम क्या है→पद्मावत
Ø”ऊधव मोहिं ब्रज बिसरावत नाहीं” में कौन-सा रस है→श्रृंगार रस
Øदोहा और रोला को क्रम से मिलाने पर कौन-सा छंद बनता है→कुण्डलिया
Ø’धातुसेन’ प्रसाद के किस नाटक का पात्र है→स्कंदगुप्त
Ø’मुन्डा भाषा’ परिवार का क्षेत्र कौन-सा है→छोटा नागपुर
Ø’आनन्द कादम्बिनी’ पत्रिका के सम्पादक कौन थे→चौधरी बदरीनारायण प्रेमघन
Ø’राजगृह’ में कौन-सा समास विद्यमान है→तत्पुरुष समास
Ø’कामायनी’ किसकी रचना है→जयशंकर प्रसाद
Ø’इतिहास’ शब्द का शुद्ध विशेषण क्या है→ऐतिहासिक
Ø’महात्मा गाँधी अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी विश्वविद्यालय’ का मुख्यालय कहाँ पर है→वर्धा
Øराजेंद्र कुमार द्वारा सम्पादित पुस्तक ‘आलोचना का विवेक’ किस विधा से संबंधित है→आलोचना
Ø’बीसलदेव रासो’ के रचनाकार का नाम क्या हैं→नरपति नाल्ह
Øभूषण किस रस के कवि थे→वीर रस
Ø’निराला’ को कैसा कवि माना जाता है→क्रान्तिकारी
Øज्ञानपीठ पुरस्कार किस क्षेत्र में श्रेष्ठ कार्य के लिए दिया जाता है→साहित्य
Ø’कठिन काव्य का प्रेत’ किस कवि को कहा जाता हैं→केशवदास को
Øहिन्दी में स्वतंत्र रूप से बोले जाने वाले अक्षर क्या कहलाते हैं→स्वर
Øहिन्दी भाषा में वे ध्वनियाँ कौन सी हैं, जो दूसरी ध्वनियों की सहायता से बोली या लिखी जाती हैं→व्यंजन
Øनिम्नलिखित में से कौन-सी पुस्तक ‘रामचन्द्र शुक्ल’ द्वारा लिखी गई है→हिन्दी साहित्य का इतिहास
Øवीर रस का स्थायी भाव क्या होता है→उत्साह
Øअवधी भाषा के सर्वाधिक लोकप्रिय महाकाव्य का नाम क्या है→रामचरित मानस
Øनिम्नलिखित में से कौन-सा पश्च स्वर है→आ
Ø’रसोईघर’ में कौन-सा समास है→तत्पुरुष
Øहिन्दी साहित्य के किस भाव को व्यभिचारी भाव कहा जाता है→संचारी भाव
Øजहाँ एक ही शब्द के अनेक अर्थ व्यक्त किये गए हों, तो वहाँ कौन-सा अलंकार होता है→श्लेष
Øआदिकाल में किस कवि ने ‘अवहट्ट भाषा’ में रचना की→अब्दुल रहमान

No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हिन्दी
Hindi Important Questions
Spread the love

Spread the love हिन्दी में आशुलिपि के जन्मदाता कौन हैं?— राधेलाल द्विवेदी महादेवी वर्मा को किस रचना के लिए ज्ञानपीठ पुरस्कार मिला?— यामा आधुनिक युग के चरण हैं?— रामधारी सिंह ‘दिनकर’ देवताओं की लिपि किसे कहा जाता है?— देवनागरी लिपि हिन्दी भाषा का प्रथम महाकाव्य किसे कहा जाता है?— पृथ्वीराज …

हिन्दी
हिन्दी
Spread the love

Spread the love प्रश्‍न 1- किस युग को आधुनिक हिन्दी कविता का सिंहद्वार कहा जाता है। उत्‍तर – भारतेन्दु युग को । प्रश्‍न 2- द्विवेदी युग के प्रवर्तक कौन थे। उत्‍तर – महावीर प्रसाद द्विवेदी । प्रश्‍न 3- हिन्दी का पहला सामाजिक उपन्यास कौन सा माना जाता है। उत्‍तर – …

हिन्दी
हिन्दी भाषा एवं साहित्य
Spread the love

Spread the love किस नाटककार ने अपने नाटकों के लिए रंगमंच को अनिवार्य नहीं माना है? – जयशंकर प्रसाद किस पुस्तक का 15 भारतीय भाषाओं और 40 विदेशी भाषाओं में अनुवाद किया जा चुका है? – पंचतंत्र किस भाषा को द्रविड़ परिवार की सभी भाषाओं की जननी कहा जाता है? …

%d bloggers like this: